Category Archives: Uncategorized

Rangoon and the different shades of nationalism

It was a dull evening in Bhopal as I sat down in an old tea shop near Jinsi chowk, in front of Rambha talkies and ordered a chai. There was Pakistan versus Sri Lanka cricket match going on, on Ten … Continue reading

Posted in Film Feature, Uncategorized | 1 Comment

बेस्वाद खाना और ज़िन्दगी

  लंचबॉक्स फिल्म के साजन फेर्नान्देस को याद कर के अजीब लगता है. कल रात को घर लौटते वक्त वैसा ही महसूस हो रहा था. रात को रोटी और दाल खा के सो जाना. वो भी अपने हाथ से बनाया … Continue reading

Posted in Uncategorized | Leave a comment

कठिन

सुबह-सुबह बंटी को स्कूल जाते देख कर बहुत अच्छा लगता था. उसकी सफ़ेद शर्ट और नीली पेंट खूब जचती थी उस पर. क्योंकि मैं भी उसी वक्त निकलता था घर से, तो मैं भी उसी के साथ ही चल देता … Continue reading

Posted in Uncategorized | Leave a comment

Fear, hope and fight: Udta Punjab

      What’s hope without fear? It is when we are amidst the fear that we hope of getting out of it, one day. There is nothing fearful than death. No heartbreak, joblessness, financial crisis bigger than the fear … Continue reading

Posted in News Story, Uncategorized | Tagged , , , , , , , , | 1 Comment

दिल्ली के ढाई साल ले कर

“तुम्हे रात में नींद क्यों नहीं आती है?” “पता नहीं” “कब लौटे हो ऑफिस से?” “अभी आधे घंटे पहले.” “खाना खाए?” “हाँ, खा लिया.” “मुझसे नहीं पूछोगे की नीतू, खाना खाई की नहीं? “हम्म” “हम्म क्या?” “मुझे पता है कि … Continue reading

Posted in Uncategorized | 2 Comments

कम्बल का कवर

  उन दिनों हर रात अजीब ही होती थी. मगर वो रात ज्यादा अजीब थी. थक हारकर अपने रूम पर कभी एक तो कभी दो बजे रात में पहुचता था. कुछ भी नया करने को नहीं बचा था. वही रात … Continue reading

Posted in Uncategorized | 1 Comment

लड़ाई जारी है: FTII

दो साल पहले अपने फाइनल प्रोजेक्ट के मैगज़ीन के लिए एक्टर जयदीप अहलावत का साक्षात्कार किया था। मै उस वक्त कोई पत्रकार नहीं था और न ही कोई एप्रोच थी। जयदीप को फेसबुक के जरिये कांटेक्ट किया और वह मान … Continue reading

Posted in Uncategorized | Leave a comment